All type of NewsFeaturedउ.प्र.

जिसे अपना इतिहास याद नहीं होता उसका भूगोल खराब हो जाता है: योगी आदित्यनाथ

The geography of which does not remember its history gets spoiled: Yogi AdityanathYogi Adityanath

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नकारात्मकता हमारे कार्यकुशलता की धार को खत्म कर देती है. नकारात्मकता की हमारे जीवन में कोई जगह नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि नकारात्मकता के साथ कोई आगे नहीं बढ़ सकता. सीएम योगी ने कहा कि अगर हमें सच में अपने देश को एक भारत-श्रेष्ठ भारत के रूप में आगे बढ़ाने है तो हमें स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों को साकार करने के साथ-साथ सकारात्मक दिशा में कदम बढ़ाना होगा.

The geography of which does not remember its history gets spoiled: Yogi Adityanath
Yogi Adityanath

सीएम योगी योगी आदित्यनाथ ने आज लोक भवन में लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के अमर उद्घोष के 101 वर्ष पूर्ण होने पर बोल रहे थे. इस दौरान उन्होंने लोकभवन में आयोजित स्मृति समारोह का दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया. इसके बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि नकारात्मकता को त्याग कर हमें सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ना होगा. उन्होंने कहा कि कहा कि इसके लिए आप स्वयं पं. तिलक जी के पूरे जीवन को देखें. देश की आजादी के क्या मायने होने चाहिए, यह उनके उद्घोष ‘स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है’ में साफ दिखाई देता है.

महाराष्ट्र सरकार के साथ सांस्कृतिक आदान-प्रदान के कई समझौता दस्तावेजों पर हस्ताक्षर
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ के संकल्प को साकार करने के लिए हमने आज ही महाराष्ट्र सरकार के साथ सांस्कृतिक आदान-प्रदान के कई समझौता दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए हैं. अब उत्तर प्रदेश के साथ महाराष्ट्र के संबंध और मधुर होंगे. उन्होंने कहा कि आज राज्यपाल राम नाईक व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस की मौजूदगी में उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के बीच सांस्कृतिक संबंधों को लेकर एमओयू आदान-प्रदान किए गए.

2022 की संकल्पना राष्ट्रधर्म
सीएम योगी ने कहा लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक को याद करते हुए कहा कि तिलक जी ने ‘स्वराज्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है’ यह उद्घोष दिया था. जिसने भारतीय लोगों में आजादी के जोश भरा. उन्होंने कहा कि जो गंदगी, गरीबी, जातिवाद, अलगाववाद, आतंकवाद क्षेत्रवाद, भाषावाद और हर तरह की अराजकता से मुक्त होगा और एक ऐसा भारत जिसका सिर्फ एक ही धर्म ‘राष्ट्रधर्म’ होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि 2022 में जब यह देश आजादी के 75 वर्ष पूरे कर रहा होगा, उस वक्त हमारी जो सिद्धि इस बात की होगी कि देश की आजादी के लिए हमारे महापुरुषों ने एक ऐसे भारत का सपना देखा था.

पहली बार यूपी का स्थापना दिवस मनाएंगे
मुख्यमंत्री ने कहा कि 24 जनवरी को पहली बार यूपी का स्थापना दिवस मनाएंगे, पहले की सरकार को पता ही नहीं था. सिर्फ टाइम पास करते थे. उन्होंने कहा कि जो कौम अपने इतिहास को संजो करके नहीं रख सकती वो अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर सकती. पिंजड़े में कैद पक्षी को कितना भी खिलाओ लेकिन वह खुश नहीं रहता, देश की आजादी ने हमें क्या दिया. यह कहकर हम अपने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का अपमान करते हैं. हमारी व्यक्तिगत स्वतंत्रता संविधान के दायरे में है. अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की आड़ में भारत की विखंडन की आवाज उठाना गलत है.

जीवन हताशा-निराशा का नाम नहीं, यह जूझने का नाम है
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत की आजादी ने हमें वह सब कुछ दिया और दे रहा है, एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में जिसके हम अधिकारी हैं. उन्होंने कहा कि लोकमान्य बालगंगाधर तिलक ने गीता रहस्य टीका इसलिए दिया कि जीवन हताशा-निराशा का नाम नहीं है, बल्कि यह जीवन जूझने का नाम है, चुनौतियों को स्वीकार करने का नाम है, चुनौतियों और संघर्षों से एक नया रास्ता निकालकर समाज को नई दिशा देने का नाम है. मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों से जुड़ा हुआ जो भवन है, उसके जीर्णोद्धार के लिए मैंने अपने मंत्री को निर्देश दिए हैं. हम सुनिश्चित करेंगे कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की भावना के अनुरूप उनके सम्मान के लिए हर संभव प्रयास हों.

भारत संभावनाओं का देश है: देवेंद्र फडनवीस
इस समारोह को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने भी संबोधित किया. उन्होंने कहा कि भारत संभावनाओं का देश है. उन्होंने कहा कि 2022 में भारत की औसत आयु मात्र 25 साल की होगी. दुनिया को तब सिर्फ भारत ही मानव संसाधन दे पाएगा. उन्होंने कहा कि भारत एक संभावनाओं से भरा देश है. पूरी दुनिया मे अब भारत को एक युवाओं के देश के तौर पर देखा जाने लगा है. उन्होंने कहा कि योगी जी ने सही कहा कि जिसे अपना इतिहास याद नहीं होता उसका भूगोल खराब हो जाता है, ऐसी सोच रखने वाले समाप्त हो जाते हैं.

फडनवीस ने कहा कि तात्यां टोपे जी के परिवार के लोग यहां पर हैं. झांसी की रानी भी महाराष्ट्र से आई थीं. उत्तर प्रदेश के भी कई लोगों ने महाराष्ट्र आकर उसे समृद्ध किया. बॉलिवुड के राजा अमिताभ बच्चन भी उत्तर प्रदेश से जाकर वहां बसे और उन्होंने बॉलिवुड को दुनियाभर में ख्याति दिलाई.

यूपी के पंडित ने कराया था छत्रपति शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक
महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश का रिश्ता बहुत पुराना है. छत्रपति शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक करने के लिए उत्तर प्रदेश से ही पंडित गए थे. उन्होंने यह कार्यक्रम इस बात का प्रमाण है कि जब एक देशभक्त मुख्यमंत्री बनता है तो किस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन होता है. जिन्होंने देश की आजादी में अपना योगदान दिया, बलिदान दिया, ऐसे सेनानियों व परिजनों का स्वागत और सत्कार करने का जो अवसर मुझे प्राप्त हुआ, उसके लिए मैं खुद को धन्य मानता हूं.

ajay dwivedi
the authorajay dwivedi