All type of Newsजिले की खबरेसीधी

जिले में तेजी से फल-फूल रहा देह व्यापार का धंधा

देह व्यापार के अवैध धंधे में पुलिस प्रषासन की भूमिका संदिग्ध

शाम ढलते ही मिश्रा कालोनी, गोरियरा बांध, गोपालदास बांध, बस स्टैण्ड हो जाते हैं रंगीन

The district rapidly flourishing prostitution racketरमाराम पाण्डेय

सीधी। जिले के मिश्रा कालोनी, गोरियरा बांध, गोपालदास बांध, बस स्टैण्ड, सिटी कोतवाली के पीछेसहित कई ऐसे स्थान है, जहां शाम ढलते ही मौसम रंगीन हो जाता है। देह व्यापार का कारोबार भी ठेकेदारी प्रथा पर चल रहा है। ग्राहकों को संतुष्ट करने के लिए देह व्यापार में लिप्त लड़कियों को दिखाते है। उनके चुने स्थानों पर पहुंचाते भी है। यह खेल आधी रात तक चलता है। बताते हैं कि इनके चंगुल में यदि पैसे वाला फंस गया तो पुलिस बुलाने की धौंस देकर उनसे रुपए वसूले जाते हैं। मालूम हो कि जिले में कई स्थानों पर काफी दिनों से देह व्यापार का धंधा बिना रोक-टोक के चल रहा है। यहां पर देह व्यापार में लिप्त रहने वाली लड़कियां आती हैं। यहां पर मिश्रा कालोनी, गोरियरा बांध, गोपालदास बांध, बस स्टैण्ड इत्यादि स्थानों से लड़कियां आती हैं। जबकि इस मार्ग से कई अधिकारी गुजरते हैं, वे भी इस मामले को अनदेखी कर देते हैं। सूत्रों के अनुसार यहां पर आने वाली लड़कियों की बोली लगाई जाती है। बोली 100 से 500 रुपए तक होती है। इसके अलावा सिटी कोतवाली के पीछे भी शाम होते ही लोगों का जमावड़ा लग जाता है। देह व्यापार में लिप्त लड़कियों के ठेकेदार अपना मोल-भाव ग्राहकों से करते हैं तथा ग्राहक जहां बुलाते हैं वे लड़कियों को वहां ले जाते हैं। कभी-कभी तो कार से लोग आते हैं जो लड़कियों को बैठाकर ले जाते हैं। इसी प्रकार से थनहवा टोला के पास भी देह व्यापार का धंधा बिना रोक-टोक के फल फूल रहा है। यहां पर भी लड़कियों का मोल-भाव होता है। जो 200 रुपए से लेकर हजार रुपए तक जाता है। यदि कोई धनी ग्राहक होता है तो उसमें ठेकेदार द्वारा अवैध पैसों की वसूली होती है। न देने पर पुलिस बुलाने की धमकी दी जाती है। कई बार तो ऐसे धनी ग्राहकों से 30-30 हजार रुपए की वसूली की जाती है। फिर भी ग्राहक घटने के बजाय बढ़ ही रहे हैं। मालूम हो कि देह व्यापार का अनैतिक धंधा पुलिस के सहयोग से चल रहा है। यदि इस पर अविलम्ब रोक नहीं लगाई तो निश्चित ही समाज में इसका बुरा असर पड़ेगा।
शराब और शबाब से माहौल गंदा
जिला मुख्यालय सीधी के बस स्टैंड के मुख्य दरवाजे पर स्थित बिल्कुल सामने विदेशी शराब की दुकान है। शराब के बाद जब लोगों को शबाब की जरूरत महसूस होती है तो बस स्टैण्ड के साथ ही कुछ और ऐसे स्थान है, जहां रात होते ही उक्त मार्ग से निकलने पर बुलाया जाता है।
लोगों ने उठायी मांग
शराब और शबाव का चल रहा घिनौना खेल से जिले का वातावरण बिगड़ चुका है। नशेडियों का जमघट और शराबियों का उत्पाद संभ्रांत लोगों को आये दिन परेशान कर रहा है। अगर कोई महिला या युवति उक्त मार्ग से निकलती है तो शराबियों द्वारा शब्दों के बाण छींटाकशी का शिकार होना पड़ता है। जिससे संभ्रांत लोगों ने प्रशासन का ध्यान इस ओर खींचते हुए कहा है कि यह गोरखधंधा बंद किया जाये और देशी व विदेशी शराब की दुकान यहां से अन्यत्र सूनसान स्थान पर स्थानांतरित की जाये जिससे इस समस्या से लोगों को परेशानी न उठानी पड़े।
पुलिस प्रषासन की भूमिका संदिग्ध
जिले में देह व्यापार कई रूपों में सक्रिय है पुलिस के नाक के नीचे ही देह व्यापार का कारोबार फल फूल रहा है पुलिस विभाग कार्यवाही तो दूर जांच तक नही कर रही पुलिस प्रषासन की यह भूमिका पुलिस प्रषासन को संदेह के दायरे में लाती हैं। समाज में व्याप्त यह बुराई नवयुवको को काल का ग्रास बना रही है। सूत्रों के बताये अनुसार शहर के बीचो-बीच स्थित मिश्रा कालोनी में देह व्यापार कई सालों से संचालित हो रहा है। इसी तरह कोटहा मोहल्ले में भी कई सालों से यह अवैध धंधा संचालित है। जो कि समाज के लिए बहुत ही घातक है। और यही सब बातें पुलिस की भूमिका पर सवलिया निसान लगातें हैं।
इनका कहना है
ग्यारह महीने में मुझे ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है अब जानकारी मिली है तो कार्यवाही जरूर की जाएगी। लेकिन अब तक मेरी जानकारी में कोई भी ऐसा देह व्यापार का धंधा नहीं चल रहा है।
आविद खान
पुलिस अधीक्षक सीधी

ajay dwivedi
the authorajay dwivedi