All type of NewsFeaturedछत्तीसगढ़

पारिश्रमिक बढ़ने से तेन्दूपत्ता संग्राहकों में हर्ष व्याप्त

जिले के 30 हजार तेन्दूपत्ता संग्राहक होंगे लाभान्वित

Tandavata collectors rejoice over the increase in remuneration

मई के द्वितीय सप्ताह से प्रारंभ होगा तेन्दूपत्ता संग्रहण

अम्बिकापुर,  जिले के वनांचल क्षेत्रों में तेन्दूपत्ता संग्रहण के कार्य के लिए ग्रामीण काफी उत्साहित नजर आने लगे हैं क्योंकि इस बार फिर से तेन्दूपत्ता के प्रति मानक बोरा की दर में बढ़ोत्तरी हुई है। मुख्यमंत्री डाॅ.रमन सिंह द्वारा विगत वर्ष तेन्दूपत्ता 1500 रूपए प्रति मानक बोरा से बढ़ाकर 1800 रूपए किया गया था। जिसे इस वर्ष 1800 प्रति मानक बोरा से बढ़ाकर 2500 रूपये किए जाने की घोषणा की गई है। प्रति मानक बोरा 700 रूपये की वृद्धि से तेन्दूपत्ता संग्राहकों में हर्ष व्याप्त है। इस वर्ष जिले के करीब 30 हजार तेन्दूपत्ता संग्राहक बढ़े हुए राशि से लाभान्वित होंगे। संग्रहण के अनुसार बोनस राशि का भुगतान भी किया जाएगा।

Tandavata collectors rejoice over the increase in remunerationवनांचल के ग्रामीण गर्मी के दिनों में जब उनके पास खेतों और घरों में कोई काम नहीं होता तब हरा सोना के नाम से विख्यात तेन्दूपत्ता का संग्रहण उन्हंे मेहनत एवं संग्रहण के आधार पर आय अर्जित करने का अवसर देता है। ग्रामीण पूरे परिवार सहित तेन्दूपत्ता तोड़ाई के कार्य मंे जुट जाते हैं। वन विभाग द्वारा इस वर्ष तेन्दूपत्ता संग्रहण की पूरी तैयारी कर ली गई है। जिला यूनियन सरगुजा अंतर्गत वर्ष 2018 में तेन्दूपत्ता संग्रहण लक्ष्य विगत वर्ष के लक्ष्य 33 हजार 700 मानक बोरा में वृद्वि कर 38 हजार मानक बोरा निर्धारित किया गया है। जिले में कुल 6 परिक्षेत्रों में 14 प्राथमिक वनोपज समिति एवं 15 लाॅट तथा 214 फड़ों के माध्यम से तेन्दूपत्ता संग्रहण किया जाएगा। तेन्दूपत्ता संग्रहण का कार्य मई के द्वितीय सप्ताह से प्रारंभ किया जाएगा। संग्रहण लक्ष्य प्राप्ति हेतु जिला यूनियन सरगुजा द्वारा अधिनस्थ समस्त फड़ मुंशियों, फड़ अभिरक्षकों, प्रबंधको, पोषक अधिकारियों, गुणवत्ताधिकारियों एवं जोनल अधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है।

ajay dwivedi
the authorajay dwivedi