नवप्रवेशी छात्रों को तिलक लगाकर पुस्तके प्रदान की

0
123

पालक अपने बच्चों को नियमित रूप से स्कूल भेेजे-श्री कुशवाह

स्कूल चलो अभियान का बीटीआई परिसर में शुभारंभ

rafat ali
भिण्ड / मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान की मंशा है कि प्रत्येक बच्चा स्कूल जाए। साथ ही कोई भी बच्चा स्कूल जाने से नहीं छूटे। इसलिए पालक अपने बच्चों को नियमित रूप से स्कूल भेजना सुनिश्चित करें। जिससे वे पढ लिखकर देश के भावी नागरिक बन सके। उक्त उदगार क्षेत्रीय विधायक श्री नरेन्द्र सिंह कुशवाह ने स्कूल चलो अभियान के बीटीआई परिसर में आयोजित जिला स्तरीय शुभारंभ समारोह में व्यक्त किए।समारोह में कलेक्टर डाॅ इलैया राजा टी, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री संदीप शर्मा, डीपीसी श्री संजीव शर्मा, नपा के उपाध्यक्ष श्री रामनरेश शर्मा, डाईट के प्राचार्य श्री डीएन मिश्रा, बीआरसी/बीईओ श्री दशरथ सिंह कौरव, विभागीय अधिकारी, पत्रकार, पालक, शिक्षक और छात्र-छात्राऐं उपस्थित थे।
क्षेत्रीय विधायक श्री नरेन्द्र सिंह कुशवाह ने कहा कि शिक्षा छात्रों के जीवन में रोशनी दिखाने का काम करेगी और वे दिनों दिन तरक्की करते हुए आगे बढने में अग्रसर होंगेे। उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय स्कूल चलो हम अभियान के समारोह में विक्रमपुरा क्षेत्र के प्राथमिक/माध्यमिक विद्यालय के गरीब बच्चों को प्रवेश दिलाने की कार्यवाही की गई। जिससे उनका पढ लिखकर भविष्य उज्जवल होगा। उन्होंने कहा कि इस अभियान में कोई भी बच्चा स्कूल जाने से छूटना नहीं चाहिए। इस दिशा में पालक और शिक्षा अपनी महति भूमिका का निर्वहन करें।
विधायक श्री कुशवाह ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा उच्च शिक्षा की दिशा में 75 प्रतिशत अंक लाने वाले छात्रों की फीस भरने का निर्णय लिया है। साथ ही काॅलेज स्तर पर स्मार्ट फोन देने की सुविधा सुनिश्चित की गई है। उन्होंने कहा कि प्रवेशोत्सव के सप्ताह के अन्तर्गत सभी स्कूल जाने बच्चों का विद्यालय में दाखिला करने की अनुकरणीय पहल की है। साथ ही नव प्रवेशी छात्रों को सांस्कृतिक माहौल में विद्यालय में आने के लिए आकृर्षित करने के लिए कदम उठाए गए है।

कलेक्टर डाॅ इलैया राजा टी ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि स्कूल चले अभियान के अन्तर्गत जिले के प्रायमरी से लेकर हायर सेकेण्डरी तक के शासकीय विद्यालयों में प्रवेश उत्सव का आयोजन किया गया है। जिसके अन्तर्गत एक सप्ताह तक छात्रों को विद्यालयों में प्रवेश देने की कार्यवाही की जावेगी। इस दौरान बच्चो को विद्यालय आने के लिए आकर्षित करने की दिशा में सांस्कृतिक कार्यक्रम और उनको अच्छे वातावरण में विद्यालय आने के लिए प्रेरित किया जावेगा। इस कार्य में पालक और शिक्षको की महति भूमिका है। इसलिए हरहाल में अप्रवेशी बच्चो को विद्यालयो में दाखिला दिलाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जावे।

कलेक्टर ने कहा कि स्कूल प्रबंधन विद्यालय में स्वच्छ वातावरण निर्मित करने की दिशा में साफ-सफाई व्यवस्था को चुस्त और दुरूस्त बनावे। साथ ही शौचालयो की व्यवस्था को सुद्रढ करें। इसीप्रकार छात्रों को खाने से पहले और बाद में हाथ धौने की प्रेरणा दी जावे। उन्होंने कहा कि जिले की 45 हजार बेटियों को स्नेहहित आग्रह पत्र जारी किया गया है। जिसमे उनके शौर्य, पराक्रम एवं साहस, सम्मान के प्रति अवगत कराने की पहल की है।
जिला शिक्षा केन्द्र के डीपीसी श्री संजीव शर्मा ने कार्यक्रम में अवगत कराया कि बच्चो को कक्षा एक में दाखिल कराने की कार्यवाही इस अभियान में की जावेगी। कोई भी बच्चा दाखिले से नहीं छूटे। इस दिशा में एक सप्ताह तक सभी विद्यालयों में प्रवेशोत्सव मनाने की पहल की गई है। साथ ही नव प्रवेशी छात्रों का तिलक लगाकर निःशुल्क पुस्तक देकर सम्मानित किया जा रहा है। इसीप्रकार सांस्कृतिक गतिविधियों के माध्यम से उन्हें अच्छे वातावरण में स्कूल में आने के लिए प्रेरित करने की पहल जारी है।

समारोह के प्रारंभ में अतिथियों ने माॅ सरस्वती जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसके उपरांत स्कूल चले हम के प्रतीक का ध्वजा रोहण किया। तदुपरांत विक्रमपुरा प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय के अलावा बालक आवासीय विशेष प्रशिक्षण शिविर डाईट के छात्रो ने स्कूल चले हम पर आधारित सरस्वती वंदना, स्वागत गीत और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। जिनको समारोह में निःशुल्क पुस्तके, काॅपी, बस्ता प्रदान किए।

कार्यक्रम का संचालन श्री डीपीसी श्री संजीव शर्मा एवं बीईओ/बीआरसी श्री दशरथ सिंह कौरव ने किया। अंत में आभार डाईट के प्राचार्य श्री डीएन मिश्रा ने सभी के प्रति प्रदर्शित किया।
आवासीय बालक छात्रावास प्रांगण में पौधारोपण
क्षेत्रीय विधायक श्री नरेन्द्र ंिसह कुशवाह, कलेक्टर श्री इलैया राजा टी, जिला पंचायत के सीईओ श्री संदीप शर्मा, नगर पालिका के उपाध्यक्ष श्री रामनरेश शर्मा ने बीटीआई स्थित आवासीय बालक छात्रावास प्रांगण में पौधारोपण किया।