All type of NewsFeaturedछत्तीसगढ़

वन कर्मियों की समस्याओं का जल्द होगा निराकरण: महेश गागड़ा

Problems of forest personnel will be resolved soon: Mahesh Gagda

वन मंत्री शामिल हुए वन कर्मचारियां के सम्मेलन में

रायपुर, वन मंत्री श्री महेश गागड़ा ने कहा है कि राज्य की वन सम्पदा के संरक्षण और संवर्धन में वन विभाग के मैदानी अधिकारी और कर्मचारी पूरी गंभीरता और मेहनत के साथ अपना योगदान दे रहे हैं। उनकी व्यावहारिक समस्याओं पर राज्य सरकार पूरी संवेदनशीलता के साथ विचार कर रही है। श्री गागड़ा ने कहा – इस संबंध में विचार-विमर्श कर जल्द उनकी समस्याओं का समुचित निराकरण किया जाएगा।

Problems of forest personnel will be resolved soon: Mahesh Gagdaश्री गागड़ा आज बीजापुर जिले के तहसील मुख्यालय भैरमगढ़ में आयोजित वन कर्मचारियों के सम्मेलन और नववर्ष मिलन समारोह ’कलरव 2018’ को मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने विभागीय कर्मचारियों और अधिकारियों को नए साल की बधाई और शुभकामनाएं दी। सम्मेलन का आयोजन छत्तीसगढ़ वन लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ के जगदलपुर वृत्त द्वारा किया गया। सम्मेलन में बीजापुर के डीएफओ श्री एन. गुरूनाथन, इन्द्रावती टायगर रिजर्व के निदेशक श्री एम.के.चैधरी,सहित पूरे राज्य से आए लगभग 500 लिपिक स्तरीय कर्मचारी उपस्थित थे।

इस अवसर पर वन कर्मचारी संघ के प्रान्ताध्यक्ष श्री वीरेन्द्र नाग ने श्री गागड़ा को लिपिक स्तरीय कर्मचारियों की ओर से 5सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। कलरव 2018 के इस सम्मेलन सह नव वर्ष मिलन कार्यक्रम के सफलता पूर्वक आयोजन में जगदलपुर वनवृत्त के बस्तर, सुकमा, दन्तेवाड़ा, बीजापुर, इन्द्रावती टाईगर रिजर्व के लिपिकों खासकर महिला कर्मचारियों का सराहनीय योगदान रहा। जगदलपुर वनवृत्त प्रभारी श्री डी.के.दानी, उप प्रान्ताध्यक्ष श्री अभय देवांगन,बीजापुर प्रभारी श्री करणसिंह मशराम, श्री शेख करीमुद्दीन, श्री के.पी.उपाध्याय सहित लिपिकों ने वन मंत्री श्री गागड़ा के प्रति आभार व्यक्त किया है।

ajay dwivedi
the authorajay dwivedi