All type of NewsFeaturedजिले की खबरेमंडला

गोंड सम्राट की धरती पर होगा प्रधानमंत्री का आगमन

पंचायती राज स्थापना दिवस समारोह को सम्बोधित करेंगे मोदी 

prime-minister-will-arrive-on-gond-emperors-land

गोंड सम्राट की धरती पर होगा प्रधानमंत्री का आगमन

पंचायती राज स्थापना दिवस समारोह को सम्बोधित करेंगे मोदी

जिम्मेदारी तय करने हुई जनप्रतिनिधियों  एवं जिला प्रशासन की बैठक

prime-minister-will-arrive-on-gond-emperors-land

Syed Javed Ali
मण्डला – तीन दिवसीय आदि उत्सव की शुरुआत पंचायती राज्य स्थापना दिवस पर हो रही है। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन के मद्देनजर जिला प्रशासन चाक चौबंद व्यवस्था में जुट गया है। अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के बीच सामंजस्य बनाने व कार्यक्रम की रूपरेखा तय करने रविवार को स्थानीय जिला योजना भवन में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की शुरुआत में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुजान सिंह रावत ने प्रधानमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पंचायती राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर  प्रधानमंत्री समूचे देश आये पंचायती राज व्यवस्था के साथ साथ विशाल जन समूह को संबोधित करेंगे।  इस कार्यक्रम में देश भर से 2000 चुनिंदा जन प्रतिनिधि शामिल होंगे कार्यक्रम की शुरुआत प्रधानमंत्री ध्वजारोहण से करेंगे इस दौरान प्रधानमंत्री पुरुस्कृत जनप्रतिनिधियों के साथ फोटो सेशन भी करेंगे। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम की माइक्रो प्लानिंग चल रही है। आदि उत्सव के दौरान एक हजार से ज्यादा जोड़ो का विवाह भी होगा।  फिलहाल मोटे तौर पर प्रधानमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम के तहत तैयारियां की जा रही हैं लेकिन प्रधानमंत्री का अधिकृत कार्यक्रम पीएमओ ही फाइनल करेगा। पीएमओ द्वारा फाइनल किया गया कार्यक्रम अधिकृत माना जाएगा और उसी के हिसाब से व्यवस्थाओं को अंतिम रूप दिया जाएगा। 
prime-minister-will-arrive-on-gond-emperors-land
जनप्रतिनिधि और प्रशासन के बीच हो सामंजस्य –
इस दौरान स्थानीय सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि आदि उत्सव के लिए देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का प्रोग्राम फाइनल था और उन्हीं के आगमन के लिए तैयारियां चल रही थी। अब प्रधानमंत्री का कार्यक्रम प्रस्तावित हो रहा है ऐसे में तैयारियों के लिए कोई खास परेशान होने की जरूरत नहीं है। उन्होंने बताया कि पंचायत स्थापना दिवस का कार्यक्रम प्रधानमंत्री का मध्य प्रदेश में फाइनल हुआ है यही वजह है कि प्रधानमंत्री आदि उत्सव और पंचायत स्थापना दिवस पर मंडला आ रहे हैं, यह मंडला जिले के लिए फक्र की बात है कि भारत रत्न और तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के बाद नरेंद्र मोदी दूसरे ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो मंडला पधार रहे। कुलस्ते ने कहा कि भाजपा के दो प्रधानमंत्रियों का आदिवासी बाहुल्य मंडला जिले में आना यह बताता है कि भाजपा को आदिवासियों की कितनी चिंता है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के प्रस्तावित दौरे में उनके अलावा प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, प्रभारीमंत्री के अलावा प्रदेश और देश के विभिन्न अति विशिष्ट लोगों का आगमन होगा। इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दौरान सम्मानजनक संख्या उपलब्ध कराने के लिए जनप्रतिनिधि और जिला प्रशासन के बीच सामंजस्य बनाने पर बल देते हुए कहा कि दोनों को इसके लिए कार्य करना होगा।  पुलिस अधीक्षक ने कहा कि लोगों के बीच यह संदेश भी दिया जाए कि वह निर्धारित समय के पूर्व कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे क्योंकि इस दौरान अलग-अलग बैठक और पार्किंग व्यवस्था होगी जिससे समय पर पहुंचना अति आवश्यक है।  प्रधानमंत्री चौगान में निर्मित हो रहे अस्थाई हेलिपैड में उतरेंगे फिर सडक मार्ग से महल के रास्ते सभा स्थल पर पहुंचेंगे।
स्थानीय जनप्रतिनिधि मेजबान की भूमिका निभाएं –
राजसभा सांसद श्रीमती संपतिया उइके ने बैठक के दौरान अपने विचार रखें। उन्होंने कहा कि भीषण गर्मी को देखते हुए सभास्थल व उसके आसपास पर्याप्त मात्रा में पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। प्रसाधन की भी उचित व्यवस्था हो जिससे आम लोगों को परेशानी ना हो। उन्होंने कहा की प्रसाधन के लिए  महिलाओं को भटकना पड़ता है और प्रधानमंत्री का समग्र स्वच्छता अभियान भी पूरे देश में चल रहा है इस लिहाज से प्रशासन की उचित व्यवस्था होना अति महत्वपूर्ण है। श्रीमती संपतिया उइके ने कहा कि स्थानीय जनप्रतिनिधियों का यह दायित्व क्योंकि यह कार्यक्रम हमारे जिले में हो रहा है इसलिए हम इसमें मेजबान की भूमिका निभाएं। अधिकारियों के साथ साथ जनप्रतिनिधियों की भी जिम्मेदारी तय की जाए और सभी जनप्रतिनिधि अपनी भूमिका का निर्वहन करें इस पर बैठक में मौजूद सभी जनप्रतिनिधियों ने हामी भरी।
स्थानीय परंपरा और संस्कृति की दिखे झलक  –
बैठक के दौरान मध्य प्रदेश आदिवासी वित्त विकास निगम अध्यक्ष शिवराज शाह ने कहा कि स्थानीय परंपरा और संस्कृति के मुताबिक कार्यक्रम होने चाहिए यह गोंड सम्राटों की धरती है इसलिए यहां की संस्कृति आधारित ही ध्वज और गीत.संगीत होना चाहिए।  52 गढ़ की राजधानी मंडला में सफेद झंडा था जिसमें शेर का निशान था कार्यक्रम के दौरान इसी झंडे का इस्तेमाल होना चाहिए और उसका ही रोहण किया जाना चाहिए। पिछले कार्यक्रमों में देखने को मिला है कि इस झंडे के स्थान पर प्रचलन में आए पीले रंग का झंडा इस्तेमाल किया जाता है जो कि गलत है। इस पर सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि यह कार्यक्रम सभी लोगों का है और सभी लोग इसमें शामिल होते हैं लिहाजा छोटी-छोटी बातों को नजरअंदाज करना चाहिए। इसी मुद्दे को लेकर शिवराज शाह और फग्गन सिंह कुलस्ते के बीच हलकी नोकझोंक भी देखने को मिली।
अच्छे मेजबान बन करें अतिथियों का स्वागत –
कलेक्टर सूफिया फारूकी वली ने कहां की राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम होने के कारण पीएमओ ही इस कार्यक्रम को नियंत्रित करेगा यह कार्यक्रम मंडला में हो रहा है यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है हम अच्छे मेजबान बनकर आने वाले सभी अतिथियों का आदर सम्मान करें हमारे सहयोग से यह कार्यक्रम अच्छे माहौल में संपन्न होना चाहिए पंचायती कार्यक्रम होने के कारण जिले के सभी सरपंच जनपद सदस्यए जिला पंचायत सदस्य सचिव पंच अच्छे से अपनी जिम्मेदारी निभाएं।  यह कार्यक्रम हम सभी का है हम उस स्थान पर यह कार्यक्रम कर रहे हैं जहां रेलवे और बस आदि नहीं चलते लेकिन नेशनल मीडिया का पूरा फोकस इस कार्यक्रम में होगा कडी सुरक्षा व्यवस्था होगी, इन सबके बावजूद नर्मदा तट पर यह कार्यक्रम है इसलिए हमें पर्यावरण के  कठोर नियम का पालन भी करना पड़ेगा। गर्मी को ध्यान में रखते हुए कार्यक्रम में पहुंचने वाले सभी लोग अपने साथ पानी और ओआरएस  की व्यवस्था करके आए जिससे उन्हें परेशान ना होना पड़े।  हालांकि पर्याप्त मात्रा में पानी और दवाओं की व्यवस्था आयोजन स्थल पर उपलब्ध रहेगी। 24 अप्रैल को केवल और केवल प्रधानमंत्री ही वीवीआईपी होंगे। भीड़ सकारात्मक भाव से कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे और यह मानसिकता बना के  आये की उसे करीब 4 से पांच घण्टे कार्यक्रम स्थल पर रहना होगा। कार्यक्रम में आने वाले लोग हर हाल में सुबह 10:30 तक अपना स्थान ग्रहण कर लें। प्रधानमंत्री के साथ-साथ जनता की सुरक्षा भी महत्वपूर्ण है, सभास्थल में जाने वालों की कड़ी सुरक्षा जांच होगी अत: कार्यक्रम में शामिल होने वाले लोगों से अनुरोध है कि वह अपने साथ प्रतिबंधात्मक वस्तु लेकर ना चलें।
ये रहे उपस्थित –
इस बैठक में लोकसभा सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते और राज्यसभा सांसद संपतिया उइके के साथ साथ निवास विधायक रामप्यारे कुलस्ते बिछिया विधायक पंडित सिंह धुर्वे, जिला पंचायत अध्यक्ष सरस्वती मरावी, जिला पंचायत उपध्यक्ष शैलेश मिश्रा, कलेक्टर सूफिया फारुखी वली, पुलिस अधीक्षक राकेश सिंह सहित जिला प्रशासन के सभी आला अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि मौजूद थे।
ajay dwivedi
the authorajay dwivedi