All type of NewsFeaturedछत्तीसगढ़

पूर्व सैनिकों के प्रतिभावान बच्चों का हुआ सम्मान

पूर्व सैनिकों के प्रतिभावान बच्चों का हुआ सम्मान

Pre-honors children of honorable soldiers

रायपुर,  प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना वर्ष 2017-18 में राष्ट्रीय स्तर पर चयनित छत्तीसगढ़ के सभी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया। भूतपूर्व सैनिकों के बच्चों का यह सम्मान समारोह संचालक, सैनिक कल्याण संचालनालय छत्तीसगढ़ द्वारा आज यहां कलेक्टोरेट परिसर स्थित रेडक्रास सोसायटी के सभागार में आयोजित किया गया।

Pre-honors children of honorable soldiersएयर कमोडोर ए.एन. कुलकर्णी (सेवानिवृत्त) विशिष्ट सेवा मेडल ने सभी मेधावी छात्र-छात्राओं को ट्राॅफी एवं प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। उन्हें अपनी बधाई और शुभकामनाएं दी तथा उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। उन्होंने उन मेधावी बच्चों को कहा कि अच्छी तरह से अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद देश की रक्षा सेवाओं में बतौर कमीशन्ड अफसर शामिल होने की कोशिश जरूर करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आज हम इस दिन को गौरव दिवस के रूप में मना रहे हैं।
सेवानिवृत्त एयर कमोडोर ए.एन. कुलकर्णी ने बताया कि प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना का प्रारंभ सन 2006-07 से होनहार बच्चों में उच्च तकनीकी एवं व्यावसायिक शिक्षा के तरफ प्रोत्साहित करने हेतु किया गया था। इसका लाभ केवल भूतपूर्व सैनिक एवं उनकी विधवाओं के बच्चों के लिए है (जो अधिकारी के रैंक के नीचे हैं)। इस योजना के तहत छात्रों को दो हजार रूपए तथा छात्राओं को 2250 रूपए प्रतिमाह अध्ययन के दौरान दिया जाता है। इस छात्रवृत्ति के लिए छत्तीसगढ़ राज्य से दस भूतपूर्व सैनिकों के बच्चों के नाम केन्द्रीय सैनिक बोर्ड नई दिल्ली भेजे गए थे। जिसमें सभी छात्रों का चयन उनके प्राप्त अंको की गुणवत्ता के आधार पर राष्ट्रीय स्तर पर हुआ। आज सम्मान समारोह में जिन मेधावी छात्रों को सम्मानित किया गया, उनके नाम इस प्रकार हैं – प्रेरणा, पूजा साहू, आकांक्षा, सुभाष कुमार पाल, वैभवी, तान्या वर्मा, आकाश वर्मा, सोनाली रौतन, अनुश्रेया राव गंते, सुनीता खूटें, आशुतोष कुमार साहू, प्रदीप कुमार मुरापल्ली, आकृति तिवारी, आशीष नागवंशी, वेदप्रकाश देवांगन, विक्रांत कुमार कौशिक, अनुराधा मजुमदार, प्रज्ञा सिंह और मनीषा गुप्ता शामिल हैं। यह राष्ट्रीय छात्रवृत्ति 2750 छात्रों तथा 2750 छात्राओं सहित कुल 5500 बच्चों को दी जाती है।

ajay dwivedi
the authorajay dwivedi