कांजी हाउस में छोटा सा कमरा है, कैसे रखें इतने जानवर

0
96

शांति समिति की बैठक में फिर उठा सड़क पर बैठे मवेशियों का मुददा

नगरपालिका पर नाराजगी जताई तो सांसद प्रतिनिधि ने दी सफाई

Pounds is a small room, how many animals housedsalamt khan
नरसिंहपुर। जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक में एक बार फिर सड़क पर बैठे मवेशियों का मामला उठा। इस मामले में जब नगरपालिका पर उंगली उठाई जाने लगी तो नपा में सांसद प्रतिनिधि नीरज महाराज ने सफाई पेश की। उन्होंने बताया- कांजी हाउस का छोटा सा कमरा है जहां बमुश्किल 20 मवेशी बन सकते हैं। यहां मवेशियों को रखने की जगह ही नहीं है। सदस्यों ने सुझाव दिया कि दमोह में बने गौ अभ्यारण्य में आवारा मवेशियों को भेज दिया जाए।
बैठक में और भी मुददे गरमाए। सदर मढिय़ा परिसर में रावण दहन न किए जाने की बात फिर उठी। जिलेभर में सड़कों की दुरावस्था पर भी सदस्यों ने चिंता जताई जिसपर कलेक्टर ने अधिकारियों से मरम्मत कराने को कहा। डीजे की बात भी गूंजी। सदस्यों ने सहमति जताते हुए कहा कि डीजे संचालकों पर भी केस बनें और समिति संचालकों पर केस बनाएं।
दुर्गा विसर्जन के लिए एक ही चल समारोह पर भी चर्चा हुई। पिछली बैठक में विश्व हिंदू परिषद के अजितेंद्र नारोलिया ने एक ही चल समारोह निकाले जाने की परंपरा फिर शुरु करने की मांग की थी। बैठक में यह बात उठी तो चंद्रशेखर साहू ने कहा कि इस बार दशहरा के समय ही मोहर्रम भी है। दो बड़े त्यौहारों पर कानून-व्यवस्था की दिक्कत आएगी। ऐसे में इस वर्ष की बजाए अगले वर्ष के लिए यह मुददा टाल दिया गया।
दुर्गा पंडालों और विसर्जन समारोहों में शराब पीकर आने पर भी सदस्यों ने क्षोभ जताया। बिजली अधिकारियों ने समिति संचालकों से कहा कि वे जल्द से जल्द कनेक्शन के लिए आवेदन करें ताकि बिजली के लोड का अनुमान लगाया जा सके और इसकी पूर्ति की जा सके। कुछ सदस्यों ने चल समारोहों में पीली मिटटी के प्रयोग पर प्रतिबंध लगाने की बात दोहराई। सदस्यों ने कहा कि इससे स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है।