प्लांट की चार बड़ी युनिट शुरू,उत्पादन 800 मेगावाट पर पंहुचा

0
1228
Plant's four big units started, production reached 800 MW

एक साल बाद बिजली उत्पादन मे हुआ इजाफा

प्लांट की 6,7,8,10 नबंर इकाई हुई शुरू

दो बड़ी इकाईयो का चल रहा है ओवरआल

प्लांट के लिए लकी साबित हुए चीफ इंजीनियर

बड़ी इकाईयां शुरू होने से अधिकारीयो के चेहरे खिले

abdul rahman
सारनी। सतपुड़ा थर्मल पावर प्लांट की चार बड़ी इकाईयो के शुरू हो जाने से बिजली उत्पादन मे इजाफा हुआ है। चार बड़ी इकाईयो से एक साल बाद 800 मेगावाट से ज्यादा बिजली का उत्पादन चल रहा है। पावर प्लांट की चार बड़ी इकाई के प्रारंभ होने से अधिकारी,कर्मचारीयो एवं शहरवासियो के चेहरे पर खुशी नजर आ रही है।

Plant's four big units started, production reached 800 MWमंडल सुत्रो ने बताया कि पावर जनरेटिंग कंपनी के निर्देश पर लंबे समय से बेकिंग डाउन पर बंद पड़ी इकाईयो से बिजली उत्पादन शुरू हुआ है। सुत्रो ने कहा कि पावर हाउस क्रमांक दो की छह एवं सात नबंर,पावर हाउस क्रंमाक तीन की आठ नबंर एवं पावर हाउस चार की 10 नबंर इकाई से बिजली का उत्पादन करीबन 800 मेगावाट के आसपास चल रहा है। इतना ही नही पावर हाउस चार की दस नबंर इकाई से क्षमता से 10 मेगावाट अधिक उत्पादन चल रहा है। दस नबंर इकाई की बिजली उत्पादन क्षमता 250 मेगावाट है। परंतु इस समय 260 मेगावाट के आसपास बिजली का उत्पादन कर रही है। बताया जाता है कि पुर्व चीफ इंजीनियर केके जैन के कार्याकाल मे करीबन चार माह तक पुरा प्लांट ही बंद रहा था। कर्मचारी संगठनो के प्रयासो से ऊर्जामंत्री ने जैसे तैसे दो बड़ी 10 एवं 11 नबंर इकाई को चलाने की अनुमति दी थी। जिससे पावर प्लांट का बिजली उत्पादन 400 मेगावाट के आसपास सिमट कर रह गया था। पावर प्लांट के नवागत चीफ इंजीनियर हेंमत पाठक के प्रभार ग्रहण करने के बाद लंबे समय से बेकिंग डाउन पर बंद पड़ी इकाईयां शुरू होने से बिजली का उत्पादन मे जोरदार इजाफा हुआ है। श्री पाठक पावर प्लांट के लिए लकी साबित हुए है। पावर प्लांट की चार बड़ी इकाईयां शुरू होने से अधिकारी,कर्मचारियो एवं शहरवासियो के चेहरे पर खुशी साफ नजर आ रही है।