FeaturedUncategorizedजिले की खबरेराजगढ़

तीसरे दिन झाड़ला, कोटरीकला, हीकनी पहुंची मीना समाज जागरूकता यात्रा

On the third day, Mina Samaj Awakarta Yatra reached Jhadla, Kotriarka, Heikni.

gajraj singh meena
ब्यावरा। आरक्षण, संरक्षण और प्रतिनिधित्व की मांग को लेकर मीना समाज द्वारा 18 फरवरी को भोपाल में होने वाले महासम्मेलन में 5 लाख मीनेष बंधुओं को एकत्रित करने के टारगेट को लेकर जिले में समाज के पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों द्वारा गांव-गांव निकाली जा रही पैदल यात्रा रविवार को झाड़ला से शुरू होकर ग्रामी हीकनी, कोटरीकला पहुंची, जहां ग्रामीणों से जोरदार स्वागत किया।

On the third day, Mina Samaj Awakarta Yatra reached Jhadla, Kotriarka, Heikni.यात्रा के जरिए समाज के लोगों को जागरूक करने एवं महासम्मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। इन यात्रियों को गांवों में ढोल-डमाकों, आतिषबाजी और पुष्पहारों से स्वागत ग्रामीणों द्वारा किया जा रहा है। समाज के जिला प्रवक्ता जीएस मीना ब्यावरा ने बताया कि इन दिनों नरसिंहगढ़ विधानसभा में चल रही दूसरे चरण की पैदल यात्रा में मोइली खुर्द, कल्याणपुरा, छापरीकला, छापरी खुर्द में समापन और दूसरे दिन ग्राम बिजौरी से यात्रा का शुभारंभ कर ग्राम अगवानी, मंूड़लाबारोल, कलाली में समापन किया गया। यात्रा में श्रीराम मंदिर कुरावर के महंत रामकिषन दास जी महाराज, समाज के प्रदेष महामंत्री लक्ष्मीनारायण पचवार्या, पूर्व मंडी अध्यक्ष प्रेमकिषोरी मीना, समाज के जिलाध्यक्ष जगदीष मीना, समाज के वरिष्ठ देवीप्रसाद देववाल, जिला योजना समिति अध्यक्ष एवं पार्षद कल्लू मीना, पार्षद दुर्गाप्रसाद देषवाली, महिला संघ अध्यक्ष शीला मीना, बृजकिषोर मीना, रामनारायण पूर्व सरपंच, पूर्व सरपंच विश्रामसिंह कलाली, विश्रामसिंह मीना, राधेष्याम चैधरी, राधेष्याम पचवार्या, विश्रामसिंह सरपंच बोकड़ी, धारू सरपंच बिरालखेड़ी, कैलाष मीना, षिवनारायण अगवानी, रामनारायण छापरी खुर्द, राजमल मीना, भगवानसिंह मीना, रामराज षिक्षक, मांगीलाल मोइली, कैलष मेम्बर, रामनारायण देरवाल, मानसिंह सरपंच कोटरकलां, जगदीष पूर्व सरपंच धनखेड़ी, दिनेष मीना, रमेष कोटरीकला, अषोक मीना युवा संघ अध्यक्ष, रामसिंह छापरी, अर्जुन मानपुरा, नवलसिंह पूर्व सरपंच, रामस्वरूप बोरखेड़ा आदि अन्य पदाधिकारी और जनप्रतिनिधियों द्वारा यात्रा कर महासम्मेलन में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने की अपील समाजबंधुओं से की।

ajay dwivedi
the authorajay dwivedi