देश की पहली महिला रक्षामंत्री बनीं निर्मला सीतारमण

0
672
Nirmala Sitharaman becomes the first woman's defense minister

अरुण जेटली के पास वित्त बरकरार, पीयूष गोयल रेलमंत्री, सुरेश प्रभु वाणिज्य मंत्री बने

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल के तीसरे विस्तार के बाद ही अब सबसे ज्यादा चर्चा इस बात की हो रही है कि किस कौन सा मंत्रालय मिलेगा. आज के विस्तार में 4 राज्यमंत्रियों को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है और 9 नए राज्यमंत्री बनाए गए हैं. राष्ट्रपति भवन हुए शपथग्रहण समारोह के बाद सभी को मंत्रालयों का प्रभार सौंपा गया. यह बात अलग है कि पीएम नरेंद्र मोदी सब पहले ही तय कर चुके थे. वह यह सब करके चीन रवाना हो गए.

Nirmala Sitharaman becomes the first woman's defense ministerअभी तक की जानकारी के पीयूष गोयल को रेलमंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है, वहीं वित्तमंत्रालय अरुण जेटली के पास बने रहने की जानकारी भी मिल रही है वहीं, रक्षामंत्रालय निर्मला सीतारमण को दिया गया है. वह देश की पहली महिला रक्षामंत्री होंगी. वहीं रेलमंत्री छोड़ने वाले सुरेश प्रभु को वाणिज्य मंत्री बनाए गए हैं. बताया जा रहा कि अरुण जेटली बतौर रक्षामंत्री जापान में होने वाली बैठक में शामिल होंगे. यह कार्यक्रम पहले ही तय हो गया था.

धर्मेद्र प्रधान के पास पेट्रोलियम मंत्रालय बरकरार है, वहीं स्मृति ईरानी को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का जिम्मा दिया गया है. नरेंद्र तोमर को ग्रामीण विकास एवं खनन मंत्रालय का जिम्मा भी दिया गया. वह पंचायती राज मंत्री भी हैं. वहीं. नितिन गडकरी को गंगा एवं जल संसाधन मंत्रालय दिया गया है. उनके पास सड़क एवं परिवहन मंत्रालय बना रहेगा. यह साफ है कि यह मंत्रालय उमा भारती से वापस ले लिया गया है. उमा भारती के पास स्वच्छता एवं पेयजल मंत्रालय होगा.
केजे अल्फॉसो को पर्यावरण मंत्रालय, आरके सिंह को बिजली मंत्रालय, हरदीप पुरी और आवास विकास मंत्रालय दिया गया है. पुरी, अल्फॉंसो और सिंह को स्वतंत्र प्रभार का मंत्री बनाया गया है.

नरेंद्र मोदी मं‍त्री मंडल में केरल, कर्नाटक, दिल्‍ली, राजस्‍थान, बिहार और उत्‍तर प्रदेश के नये चेहरों को जगह दी गई है. बताया जा रहा है कि यह सारी तैयारी ‘मिशन 2019’ को ध्‍यान में रखकर किया गया है. इससे पहले पार्टी अध्‍यक्ष ने ‘मिशन 350+’ को लेकर सांसदों के साथ बैठक की थी. राष्ट्रपति भवन में शपथग्रहण समारोह आयोजित हुआ. मुख्तार अब्बास नकवी, निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल और धर्मेद्र प्रधान को प्रमोशन दिया गया है. उन्हें राज्यमंत्री से कैबिनेट का दर्जा दिया गया है. अनंत हेगड़े, वीरेंद्र कुमार और हरदेव सिंह पुरी को मंत्री बनाया गया है.