मेघा पाट्कर की रिहाई को लेकर किसान संघर्ष समिति ने सौंपा ज्ञापन

0
79
Kisan Sangharsh Samiti submitted memorandum regarding the release of Megha Patkar

सरदार सरोवर बांध के विस्थापितों सहित मेधा पाटकर से तुरंत संवाद करे सरकार

vishnu shrivastav
पृथ्वीपुर। सपा जिला अध्यक्ष दाखी प्रसाद दांगी के नेतृत्व में तहसीलदार जीएस पटैल को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में कहा गया कि हम नर्मदा बचाओ आन्दोलन के समर्थक एक बार फिर अपनी मांगों को लेकर आपको लिख रहे हैं कि इससे पहले भी अनगिनत बार हमारे द्वारा आपसे संबाद किया गये लेकिन आपने हमेशा ही हमारे संबाद को नकारा है। सरदार सरोबर स्थापित सटटू भाई, विजय भाई, धुरजी भाई और नर्मदा बचाओ आन्दोलन की नेत्री मेघा पाट्कर 11 दिनों से झूठे आरोपो के कारण जेल में बन्द है जिन पर अपहरण एवं हत्या के प्रयास जैसे झूठे मुकदमे दर्ज कराये गये हैं।

Kisan Sangharsh Samiti submitted memorandum regarding the release of Megha Patkarइसके अलावा अनगिनत कार्यकर्ताओ पर थाना कुक्षी जिला धार में 21 जून से लेकर 10 अगस्त तक एफआईआर करके धारा 341/34, 294, 506, 353/34 आईपीसी, 353, 294, 506, 34 आईपीसी, 14, 341, 342, 147, 365, 149, 341, 332, 308, 186, 109 आईपीसी, 188 गंभीर धारायें लगाई गई है इनमे कई महिलायें भी शामिल हैं। यह आप भली-भांति जानते है कि कार्यकर्ताओ एवं मेघा पाटकर पर लगाये गये आरोप बेबुनियाद एवं गलत है। 32 साल के इस आन्दोलन ने हमेशा शांति पूर्ण अहिंसक मार्ग अपनाया है और आगे भी उसी मार्ग पर चलेगा। उन्होने अपनी मांगे रखते हुये कहा कि धार जेल में कैद सुश्री मेघा पाटकर, शंटू भाई, विजय भाई और धुरजी भाई को बिना शर्त तुरंत रिहा किया जाये। पुनर्वास स्थलों को पूरी तरह से तैयार करने के बाद ही लोगो को उनके मूल गांव छोडऩे को कहा जाये। विना सम्पूर्ण पुनर्वास एक भी परिवार को जोर जबरदस्ती से ना हटाया जाये। सरदार सरोबर बांध के गेट तुरंत खोले जाये और सरकार द्वारा तत्काल यह घोषणा की जाये की सम्पूर्ण पुनर्वास के विना गेट बंद नही किये जायेंगे। सरदार सरोबर बांध के विस्थापितो सहित नर्मदा बचाओ आन्दोलन की अगुवा मेघा पाटकर के साथ तुरंत संवाद किया जाये। वह सारी सुविधाएं पुनर्वास स्थलों पर मुहैया कराई जाये जो मूल गांव में है। ज्ञापन देने बालों में लखनचन्द्र जैन, जितेन्द्र पस्तोर, दाखी प्रसाद दांगी, कमलेश यादव, राघवेन्द्र सिंह ठाकुर, मोहित दांगी, दिनेश सेन, प्रताप नेता, देशपत सिंह यादव, रामपाल राजा, केशवदास झां, अरविन्द्र सिंह दांगी, नबल सिंह दांगी, राहुल दांगी आदि उपस्थित रहे।