आदिवासी अंचल में किसान आंदोलन की आहट

0
187
Kisan movement movement in tribal zone

आदिवासियों की समस्याओं का शीघ्र निराकरण हो : सूबेदार सिंह

awdhesh dandotiya
मुरैना/कैलारस। पहाडगढ अंचल के आदिवासी ग्राम कन्हार की आदिवासी बस्ती में महात्मा गांधी आस्था मंच मुरैना के तत्वाधान में एक आदिवासी सम्मेलन पूर्व विधायक सूबेदार सिंह सिकरवार के मुख्य अतिथि में एवं कन्हार के पूर्व सरपंच लखन तिवारी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम का संचालन चिम्मन सिंह सिकरवार ने किया। उक्त आदिवासी सम्मेलन में मंदसौर में मारे गये किसानों को श्रद्धांजलि दी एवं किसान आंदोलन को पूर्ण समर्थन दिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व विधायक सूबेदार सिंह सिकरवार ने संबोधित करते हुए कहा कि आज वर्तमान सरकार दलित, आदिवासी, किसानों के साथ जो व्यवहार कर रही है, वह अशोभनीय है, इसका घोर विरोध होना चाहिये।

Kisan movement movement in tribal zoneउन्होंने आदिवासियों भाईयों को जो वदे दिये गये है, लेकिन उन्हें उनकी जमीन नही मिली उनको उनका कब्जा दिलाने की मांग सहित पेयजल, सडक, खाद्यान की समस्या उठाई और इसके लिये आंदोलन करने की घोषणा की। कार्यक्रम को जण्डेला सिंह सिकरवार सरसेनी, रामजीलाल राठौर, चिरोजी आदिवासी, रतन लाल, मुन्ना पटेल, गिर्राज, रामरतन बघेल, भागीलाल, श्रीमती गुड्डी बाई ने संबोधित किया। कार्यक्रम कन्हार, धोपा, बहराई, निरार, भरा, भानपुर, कालाखेत, अमोही के आदिवासी व किसानों ने बडी संख्या में भाग लिया। सम्मेलन में मुख्य अतिथि सूबेदार सिंह ने उपस्थित आदिवासियों को शराब छोडने का संकल्प भी दिलाया। इस अवसर पर महात्मा गांधी आस्था मंच पहाडगढ को इकाई भी घोषित की, जिसमें चिरोजी आदिवासी को अध्यक्ष व लखन तिवारी को संरक्षक घोषित किया गया।