जावरा शुगर मिल की भूमि पर फूड प्रोसेसिंग पार्क बनेगा

0
92
Land of Madhya Pradesh is really a gemstone: Rajendra Shukla

उद्योग मंत्री ने ली विभागीय परामर्शदात्री समिति की बैठक

भोपाल : उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा है कि रतलाम जिला उद्यानिकी में अग्रणी जिले के रूप में जाना जाता है। इस कारण यहाँ फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाई जाए। इसके साथ ही मंदसौर जिले में टेक्सटाइल पार्क भी स्थापित किया जाए। श्री शुक्ल आज वाणिज्य-उद्योग, रोजगार विभाग और एमएसएमई की परामर्शदात्री समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में समिति के सदस्य एवं विधायक श्री राजेन्द्र पाण्डे और विभागीय वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में बताया गया कि जावरा शुगर मिल की भूमि पर फूड प्रोसेसिंग पार्क स्थापित किया जाएगा। इसके लिए दिसम्बर अंत तक डीपीआर तैयार कर लिया जाएगा। बैठक में जानकारी दी गई कि झांझरवाड़ा में टेक्सटाइल पार्क स्थापित करने के लिए अनुकूल माहौल है। इसी के नजदीक राजस्थान का भीलवाड़ा क्षेत्र भी लगता है। उद्योग मंत्री ने टेक्सटाइल पार्क की स्थापना के लिए अधिकारियों को प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

Land of Madhya Pradesh is really a gemstone: Rajendra Shuklarajendraउद्योग मंत्री ने जानकारी दी कि प्रदेश में निवेशकों को प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रोड-शो किये जा रहे हैं। वर्ष २०१७-१८ में अक्टूबर माह तक ९ विभिन्न राज्यों में और ५ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रोड-शो किये गए हैं। निवेशकों को उद्योग लगाने में सुविधा हो, इसके लिए ईज ऑफ डूइंग पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। भारत सरकार और विश्व बैंक के सहयोग से किये गए सर्वे में मध्यप्रदेश को ईज ऑफ डूइंग में पाँचवां स्थान मिला था। इस वर्ष मध्यप्रदेश को प्रथम स्थान पर लाने के प्रयास किये जा रहे हैं।

उद्योग मंत्री श्री शुक्ल ने बताया कि निवेशकों के प्रस्ताव पर पारदर्शी तरीके से कार्यवाही करने के लिए विभाग ने ‘इन्वेस्ट” पोर्टल तैयार कर लिया है। इंदौर में हुई इन्वेस्टर समिट के प्रस्ताव पर विभाग द्वारा कार्यवाही की जा रही है। समिट में उद्योग क्षेत्र से संबंधित ४.३८ लाख करोड़ रुपये के २१७१ प्रस्ताव अंतिम रूप से स्वीकार कर लिये गए हैं। श्री शुक्ल ने बताया कि इंदौर में १११३ हेक्टेयर भूमि पर मल्टी प्रोडक्ट एसईजेड विकसित किया गया है। इनमें ४९ औद्योगिक इकाइयों में ३,८२० करोड़ रुपये का निवेश हुआ है और करीब २० हजार व्यक्तियों को रोजगार भी उपलब्ध करवाया गया है।

बैठक में प्रमुख सचिव उद्योग एवं वाणिज्य मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव एमएसएमई श्री व्ही.एल. कांताराव, प्रबंध संचालक ट्रायफेक श्री डी.पी. आहूजा सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।