सूडान और मिस्त्र के बीच इंदौर के सुयश ने बनाया अपना देश

0
192
Indore's Suyash made his country between Sudan and Egypt

खुद बने राजा और अपने पिता को बनाया प्रधानमंत्री

देश का नाम रखा ‘किंगडम ऑफ दीक्षित’, संयुक्त राष्ट्र से मांगी मान्यता

इंदौर। शहर के सुयश दीक्षित ने सूडान और मिस्त्र के बीच 800 वर्ग मील के क्षेत्र पर अपना झंडा लगाकर उसे ‘किंगडम ऑफ दीक्षित’ घोषित किया है। उन्होंने खुद को इस गैर दावाग्रस्त इलाके का राजा बताते हुए संयुक्त राष्ट्र से उनके नए देश को मान्यता देने की बात कही है। इतना ही नहीं सुयश ने एक वेबसाइट बनाकर लोगों से इस देश की नागरिकता के लेने का आवदेन करने को भी कहा है।

Indore's Suyash made his country between Sudan and Egyptजानकारी के मुताबिक ये यह पूरा इलाका रेगिस्तानी है, जो मिस्त्र और सूडान की दक्षिणी सीमा से लगा हुआ है। मिस्त्र और सूडान इसे अपना इलाका नहीं मानते। मिस्त्र का मानना है कि 800 वर्ग मील का यह इलाका सूडान का है, तो सूडान यह मानता है कि यह मिस्त्र का है।

Indore's Suyash made his country between Sudan and Egyptसुशय ने अपने फेसबुक जब पहली बार उस क्षेत्र पर दावा करते हुए तस्वीरें डाली तो पूरी दुनिया में हलचल मच गई। उन्होंने अपनी कहानी भी शेयर की है, जिसमें सुयश ने बताया है कि वे 319 किमी का सफर कर यहां तक पहुंचे। उनके अनुसार रेगिस्तानी क्षेत्र में पहुंचने के लिए कोई सड़क भी नहीं थी। यहां आकर उन्होंने पौधा लगाने के लिए बीज बोया और उसे पानी दिया। सुशय का कहना है कि यहां पौधे का बीज लगाकर अब मैं यह दावा करता हूं कि यह सारी जगह मेरी है।
बर्थ-डे गिफ्ट में पिता को बनाया प्रधानमंत्री

सुयश ने अपने पिता को बर्थ-डे का‍ गिफ्ट देते हुए उन्हें ‘किंगडम ऑफ दीक्षित’ का प्रधानमंत्री बनाया है। उन्होंने https://kingdomofdixit.gov.best/ नाम से एक वेबसाइट भी बनाई है, जिस पर इस नए देश की नागरिकता के लिए लोग रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।
लाल घेरे में वो इलाका जिस पर सुयश ने अपना दावा जताया है

सुयश इंदौर के रहने वाले हैं, वे शहर के गुरु हरिकिशन पब्लिक स्कूल में पढ़े हैं। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संस्थान से पढ़ाई पूरी करने के बाद वे गूगल डेवलपर्स ग्रुप इंदौर के कम्यूनिटी लीडर भी रहे। सुयश ने जोमोटो, माइक्रोसॉफ्ट के साथ भी काम किया और वर्तमान में वे सॉफ्टीनेटर कंपनी के सीईओ हैं।