गाडरवारा में योजनाओं की समीक्षा

0
16

कलेक्टर ने दिए क्रियान्वयन में तेजी लाने के निर्देश

Gadarwara in reviewing planssalamat khan
नरसिंहपुर। शासन की जन कल्याणकारी योजनाओं, कार्यक्रमों, अभियानों और विभिन्न गतिविधियों की समीक्षा पीजी कॉलेज ऑडिटोरियम गाडरवारा में  कलेक्टर सिबि चक्रवर्ती एम. ने की। उन्होंने योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जनपद पंचायत सांईखेड़ा एवं चीचली और नगरीय निकाय गाडरवारा, चीचली, सांईखेड़ा एवं सालीचौका से संबंधित कार्यों की विस्तार से समीक्षा की। श्री चक्रवर्ती ने कहा कि शासकीय योजनाओं का लाभ हितग्राहियों को आसानी से मिले, इसके लिए सभी आवश्यक कदम उठाये जावें। हितग्राहियों की कठिनाईयों का तत्परता से निराकरण सुनिश्चित हो।
बैठक में पंचायत एवं ग्रामीण विकास, सामाजिक न्याय, राजस्व, शिक्षा, खाद्य, कृषि, आदिम जाति कल्याण, पशु चिकित्सा, महिला एवं बाल विकास, लोक स्वास्थ्य, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी से संबंधित विभागों के कार्यों की समीक्षा की गई।
कलेक्टर श्री चक्रवर्ती ने निर्देश दिए कि हितग्राहियों को पेंशन समय पर मिलना सुनिश्चित हो। पेंशन हितग्राहियों की आधार सीडिंग का शत- प्रतिशत कार्य एक माह के अंदर अनिवार्य रूप से पूर्ण कर लिया जावे। उन्होंने ग्राम पंचायत सीरेगांव, कठौतिया, निमावर तथा आमगांव छोटा में आधार सीडिंग का अच्छा कार्य होने पर संबंधित पंचायत सचिवों की सराहना की। इन ग्राम पंचायतों के सचिवों ने आधार कार्ड बनवाने एवं सीडिंग से संबंधित कार्यों की जानकारी दी। कलेक्टर ने निर्देशित किया कि पटवारी और ग्राम पंचायत सचिव संयुक्त रूप से निरीक्षण कर अतिक्रमण संबंधी सर्वे रिपोर्ट की जानकारी नक्शा सहित एक माह के भीतर तहसीलदार को दें।
कलेक्टर ने आपदा प्रबंधन की तैयारियों की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने अनुभाग स्तर पर आपदा प्रबंधन का प्रशिक्षण देने के लिए निर्देशित किया। प्रशिक्षण में पटवारी, सचिव, कोटवार, पुलिस और संबंधित अमला शामिल होगा। श्री चक्रवर्ती ने कहा कि आपदा प्रबंधन में पटवारी एवं सचिव और संबंधित सभी विभागों का अमला बेहतर समन्वय से कार्य करें। पशु पालकों को समझाइश दी जावे कि बाढ़ के समय वे अपने पशुओं को बांधकर नहीं रखें।
श्री चक्रवर्ती ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का अधिकाधिक लाभ किसानों को दिलाना सुनिश्चित किया जावे। शत- प्रतिशत किसान फसल बीमा का लाभ लें। इसके लिए किसान मित्र किसानों को प्रेरित करें। किसान मित्र किसानों को फसल बीमा योजना के लाभ बतायें। किसानों को अवगत कराया जावे कि फसल बीमा लाभदायक है। अब फसल क्षति होने पर आरबीसी 6-4 के तहत मुआवजा नहीं मिलेगा, इसलिए किसान फसल बीमा जरूर करावें। किसान नरवाई और फसल के कचड़े में आग नहीं लगायें। आग लगाने से खेत की मिट्टी की उर्वरा शक्ति घटती है और लाभदायक जीवाणु नष्ट हो जाते हैं। अऋणी किसानों द्वारा फसल बीमा कराये जाने के लिए विशेष ध्यान दिया जावे।
जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री प्रतिभा पाल ने विकलांगता पेंशन से संबंधित हितग्राहियों के विकलांगता प्रमाण पत्र तय समय सीमा में पोर्टल पर अपलोड कराने के निर्देश दिए।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY