शराब दुकान में तोड़फोड़, कांग्रेस विधायक ने राज्यमंत्री संजय पाठक के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

0
511

विधायक  सौरभ सिंह का आरोप राज्यमंत्री के दवाब में पुलिस,

राज्यमंत्री और उनके पुत्र यश पाठक को बचाने के लिए पुलिस ने कबायद तेज, पीड़ितों पर बनाया जा रहा दवाब, दहशत में जनता

कटनी। प्रदेश सरकार के एक धनाढ्य मंत्री से जुड़ा एक और विवाद सामने आया है। कांग्रेस नेता सौरभ सिंह ने स्लीमनाबाद थेन में राज्यमंत्री के खिलाफ माम्बला दर्ज कराया है

जानकारी के अनुसारर राज्यमंत्री संजय पाठक के पुत्र ने शुक्रवार सुबह एक शराब दुकान को जबरदस्ती खुलवाने का प्रयास किया। शराब कर्मचारियों के मना करने पर विवाद बढ़ गया।शराब दुकान के कर्मचारियों ने मंत्री पुत्र के साथ मारपीट कर दी। घटना कटनी जिले के स्लीमनाबाद की है। मामले में उस समय नया मोड़ आया जब कांग्रेस विधायक ने इसकी जानकारी वायरल की। कांग्रेस विधायक का आरोप है कि पुत्र से मारपीट की सूचना मिलने पर मंत्री स्वयं अपने साथ भीड़ लेकर शराब दुकान पहुंच गए। पुत्र से हुई मारपीट का बदला लेने के लिए उन्होंने भी शराब दुकान के कर्मचारियों के साथ हाथापाई की। मारपीट में दो दो लोगों के घायल होने की खबर है। घटनाक्रम के दौरान हंगामे की स्थिति निर्मित हो गई। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और विवेचना शुरू कर दी है। इस संबंध में जब राज्यमंत्री से पक्ष लेने का प्रयास किया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

Fir file sourabh singhमंत्री पुत्र सुबह 4 बजे पहुंचा दुकान 
क्षेत्र में व्याप्त चर्चाओं और विपक्ष के विधायक सौरभ सिंह द्वारा सोशल मीडिया पर दी गई जानकारी के अनुसार राज्यमंत्री संजय पाठक का पुत्र यश पाठक सुबह 4 बजे स्लीमनाबाद शराब दुकान में पहुंचा। मंत्री पुत्र के साथ उसके कुछ दोस्त भी थे। उस वक्त शराब दुकान बंद थी। लेकिन मंत्री पुत्र शराब दुकान खोलने की जिद पर अड़ गए। उन्होंने शराब दुकान के कर्मचारियों को दुकान खोलने के लिए धमकाया। इस पर दोनों पक्षों के बीच विवाद हो गया। मौके पर हंगामे की स्थिति बन गई। चर्चा है कि पुत्र से मारपीट की सूचना मिलने पर राज्यमंत्री अपने साथियों के साथ शराब दुकान पर पहुंचे। उसके बाद शराब दुकान के कर्मचारियों के साथ मारपीट हुई। इस घटना में दो कर्मियों के गंभीर रूप से घायल होने की सूचना है। यह भी कहा जा रहा है कि घटनास्थल वाले मार्ग पर मंत्री का फॉर्म हाउस है। कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि मारपीट की घटना में राज्यमंत्री संजय पाठक और उनके पुत्र शामिल हैं

मौके पर नही मिला कोई
कटनी पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह के अनुसार सुबह डायल-100 को सूचना मिली कि कुछ लोग गाडिय़ों में सवार होकर स्लीमनाबाद आए थे और वहां शराब दुकान के कर्मचारियों के साथ हाथापाई की। लेकिन जब डायल-100 मौके पर पहुंची तो वहां पर कोई नहीं मिला।
सीसीटीवी फुटेज गायब
शराब दुकान में मारपीट की घटना के बाद कटनी ही नहीं जबलपुर और भोपाल तक राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई है। ये आरोप भी सामने आ रहे हैं कि राज्य मंत्री के प्रभाव में प्रकरण को रफा-दफा करने का प्रयास किया जा रहा है। घटना से संबंधित सीसीटीवी फुटेज सहित अन्य साक्ष्य गायब कर दिए गए हैं। हालांकि पुलिस का कहना है कि मामले की गंभीरता पूर्वक जांच की जा रही है।
दो को ज्यादा चोटें
घटना में दो लोग गंभीर घायल बताए जा रहे हैं। इनके नाम 40 वर्षीय सुरेश पिता गुलैया चौधरी और ३८ वर्षीय सुनील पिता सूर्यनारायण अग्रहरी बताए जा रहे हैं। चौकीदार सुरेश चौधरी सपना व बेटे को भी चोटें आयी हैं। खबर है कि उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि गंभीर स्थिति के कारण भाई को जबलपुर रेफर कर दिया गया है। क्षेत्रीय लोगों का दावा है कि घटना के बाद घायल सुरेश का परिवार भी स्लीमनाबाद में नहीं है। टीआई इंदे्रश त्रिपाठी के अनुसार शराब दुकान जिस वेयर हाउस कैंपस में संचालित है उसका मालिक घायलों को लेकर जबलपुर गया है। इसमें सुनील को जबलपुर के मेडिकल कॉलेज में भर्ती किए जाने की बात सामने आयी है।
वेयर हाउस में शराब दुकान
स्लीमनाबाद के जिस शराब दुकान के सामने मंत्री पुत्र के साथ मारपीट की खबर है वह जिला पंचायत सदस्य निधि तिवारी के पति के बताई जा रही है। जानकारों के मुताबिक वेयर हाउस गोलू तिवारी का है। इसी वेयर हाउस के कैंपस में शराब की दुकान संचालित है। वहीं, घटना के बाद भी तक किसी भी पक्ष ने पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है। घायलों के भी बयान दर्ज नहीं किए गए है।