‘नहर नहीं तो वोट नहीं’ 35 गांव के किसानों ने खोला मोर्चा

0
40

श्योपुर। प्रदेश में किसानों की नाराजगी जारी है। 35 गांव के किसानों ने सरकार के खिलाफ फिर मोर्चा खोल दिया है। किसान शनिवार से धरने पर चले गए है और अपनी मांग पर अड़े हुए है। इसके लिए उन्होंने भाजपा को चेतावनी भी दे दी है। दरअसल, श्योपुर के किसानों में नहर की मांग को लेकर सरकार के प्रति आक्रोश है।

किसान शनिवार से अपनी मांग को लेकर धरने पर बैठ गए हैं। बता दे कि किसान लंबे समय से श्योपुर विधानसभा में नहर की मांग किए हुए है, लेकिन सरकार ने अभी तक उनकी मांग पूरी नहीं की है। किसानों के इस आंदोलन में विपक्ष ने भी साथ देकर आग में घी का काम किया है। इसके लिए किसानों ने सरकार को चेतावनी तक दे डाली है कि नहर नहीं तो वोट नहीं। किसानों का कहना है कि मूजरी बांध बनाया जाए, इसके साथ ही चम्बल नहर से छोटी नहर निकाली जाए, ताकी किसानों को पानी की व्यवस्था भरपूर हो सके। चेतावनी देते हुए किसानों ने कहा है कि नहर को मंजूरी नहीं मिली तो वह उग्र आंदोलन करने में भी पीछे नहीं रहेंगे। किसानों ने धरने पर ऐलान किया कि जो पार्टी नहर को मंजूरी देगी वे उसी पार्टी को वोट देंगे। अगर नहर नहीं बनेगी तो वोट भी नहीं दिया जाएगा।