All type of NewsFeaturedजिले की खबरेबैतूल

भाजपा नेताओं के गांव में ही विकास कार्य को तरस रही जनता

चुनाव के समय ही दर्शन देते है भाजपा नेता

भाजपा के नेता केवल नाम के नेता दिखावे के लिये करते केवल राजनीति।

आशीष पेंढारकर

बैतूल , घोड़ाडोंगरी। इस बात का गर्व है कि हमें शिवराज सिंह चौहान जैसे नरम दिल के आमजनता के जज्बात को समझने वाले मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश को मिले जो आज के वर्तमान समय में (दिन में हाथ में जलता दीपक) के उजाले में ठुडने पर भी  नही मिल सकते ।
वे एक ऐसे इकलौते मुख्यमंत्री है जो घोड़ाडोंगरी के एक छोटे वार्ड बाजार ढाना में आने से तक नही कतराये

वहां की आमजनता के भी उनके दीदार में अपनी पलकें भी झुका दी थी। कई महिलाओं के मुख से ये शब्द तक निकला था कि मेरे भैया शिवराज आपको मेरी भी उम्र लग जाये इन शब्दों के लख लख बार अपने भैया शिवराज सिंह चौहान पर बलिहारी हो रही थी।
बाजार ढाना कि आम जनता को ऐसा लगा जैसे अब इस बाजार ढाना नगर का कल्याण हो जायेगा । शिवराज सिंह चौहान ने बाजार ढाना के बाजार चौक से आमजनता को संबोधित करते हुऐ कहा था कि अपने इस भाई का विश्वास करे उपचुनाव खत्म होते ही घोड़ाडोंगरी से बाजार ढाना को जोड़ने वाला यह मार्ग पक्की सड़क में तब्दील हो जायेगा है।
लेकिन किसी ने सही कहा है कि समय निकलते देर नही लगती आज दो वर्ष का समय पूर्ण हो चुका है। लेकिन आज तक पक्की  सड़क का निर्माण नही हो सका हो पाया है ।
वही बाजारढाना के मूल निवासी नंद किशोर यादव ,सियाराम यादव ,ने प्राइम टी वी न्यूज रिपोर्टर आशीष पेंढारकर को बताया कि मुख्यमंत्री जब हमारे भलाई के लिये इतना कुछ कर सकते है।
तो यहां के जनप्रतिनिधि(नेता) क्यों कुछ नही करते है । 20 , से 25 वर्ष पूर्व सड़क निर्माण का कार्य सरपंच मूलचंद मालवीय ने कराया था । उसके पश्चात भी आज तक बाजारढाना में मुख्य मार्ग पर सड़क नही बन पाई यहां के नेता केवल मीठे मीठे शब्द बोल बोलकर जनता के जज्बात के साथ खिलवाड़ करते है । वे क्यों अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ते है । लेकिन कोई कार्य नही करते ।
वही नंदकिशोर यादव , सीताराम यादव,ने यह भी बताया कि जब पूर्व विधायिका महोदया माननीय श्रीमति गीता रामजीलाल उईके जब घोड़ाडोंगरी ग्राम पंचायत की सरपंच महोदया थी तब उनके कार्यकाल में एक सीमेंट सी सी रोड़ का निर्माण बाजार ढाना के हनुमान मंदिर से लेकर नदी घाट तक कराया गया था ना जाने कितनी बार नदी के बाढ़ का पानी बाजार ढाना नगर के भीतर तक आ चुका है ।
लेकिन आज तक वह सी ,सी , रोड़ आज भी उतनी ही मजबूत है जितनी आज से लगभग 15 – से 20 वर्ष पूर्व थी ।
लेकिन आज से समय के नेता ये क्यों नही समझते कि खादीदार कुर्ता पैजामा पहनने से कोई नेता नही बनता बल्कि जनहित के कार्यो को करने से नेता बनता है।आज घोड़ाडोंगरी क्षेत्र में युवा छुटभैया नेता अपनी कॉलर चमकाए घूमते हैं।इससे पार्टी की छवि को फायदा कम नुक्सान ज्यादा होते दिख रहा हैं।

ajay dwivedi
the authorajay dwivedi