विद्युत झोन कार्यालय में उपभोक्ताओं को बंधक बनाया

0
53

प्यास के मारे महिलाओं की हालत खराब हुई, वल्लभ नगर झोन में फिर तमाशा

brijesh parmar
उज्जैन। विद्युत कंपनी के वल्लभ नगर झोन में आए दिन का तमाशा खड़ा हो रहा है। कुछ दिनों पूर्व ही यहां बिजली को लेकर नागरिकों ने तड़के धरना दिया था। सोमवार को बिजली की परेशानी को लेकर पहुंचे नागरिकों को कार्यालय में बंधक बना दिया गया। स्थिति यह बन पड़ी कि महिलाओं की प्यास के मारे हालत खराब हो गई।

bhavtarini logo_new copyवल्लभ नगर झोन कार्यालय कर्मचारियों की कार्य प्रणाली के चलते चर्चाओं में बना हुआ है। सोमवार को यहां बिल भुगतान करने पहुंचे नागरिकों को समस्या से निजात तो नहीं मिली उलटा करीब डेढ़ घंटे तक बंधक के रूप में रहना पड़ा।

झोन कार्यालय का चैनल लगाकर कर्मचारियों ने इन्हें कथित तौर पर बंधक सा बना दिया। इनमें कई महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। इसके चलते भूख, प्यास के मारे बच्चों और महिलाओं की स्थिति खराब हो गई। कई बच्चे जो कि अपनी मां के साथ आए थे, वे स्कूल जाने से भी वंचित हो गए। सताए गए नागरिकों का कहना था कि झोन कार्यालय में कोई सुनवाई नहीं की जाती है।

उलटा यहां के कर्मचारी उपभोक्ताओं से ऐसा व्यवहार करते हैं कि उपभोक्ता त्रस्त हो जाते हैं। असल मेें माजरा इस तरह से बना कि विद्युत कंपनी के कार्यपालन यंत्री और अभिभाषक में विवाद के चलते सोमवार को जिल भर में विद्युत कंपनी के कर्मचारियों ने हड़ताल की थी। इसकी जानकारी वल्लभ नगर झोन स्थित बिल जमा करने वाली पेढ़ी को नहीं हुई थी। यहां कर्मचारी ने आकर काउंटर खोल दिया जिससे उपभोक्ता बिल जमा करने के कतारबद्ध हो गए। बाद में हड़ताल की जानकारी लगनेे पर जितने उपभोक्ता कार्यालय परिक्षेत्र में उपस्थित थे, उनसे बिल जमा करने के लिए चैनल गेट पर ताला लगा दिया गया था। जिससे कि ओर अधिक उपभोक्ता अंदर प्रवेश न कर सकें। अंदर मौजूद उपभोक्ताओं ेके बिल जमा करने के बाद सभी को एक साथ वहां से ताला खोलकर निकाला गया। इस संबंध में क्षेत्रिय डीई एस.के. जैन का कहना था कि हड़ताल की जानकारी निजी पेढ़ी के कर्मचारियों को नहीं थी। इस कारण से उन्होंने काउंटर खोल दिया था। जानकारी होने पर जितने उपभोक्ता वहां आ पहुुंचे थे। उन्हें परिसर में रोकते हुए बिल जमा किए गए। इसी वजह से कुछ देर उपभोक्ताओं को परिसर में इंतजार करना पड़ा। बंधक जैसी तो कोई बात नहीं थी। उपभोक्ताओं ने भी कोई आपत्ति दर्ज नहीं कराई।