All type of Newsभोपाल

प्रदेश में दिव्यांगों के लिए खुलेंगे स्पोर्ट्स सेन्टर: गेहलोत

प्रदेश में दिव्यांगों के लिए खुलेंगे स्पोर्ट्स सेन्टर: गेहलोत

भोपाल
केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत ने कहा है कि राजधानी भोपाल में खुलने देश के पहले राष्टÑीय मानसिक स्वास्थ्य एवं पुनर्वास केन्द्र पर 180 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे। इसके लिए प्रदेश सरकार 25 एकड़ जमीन उपलब्ध करा रही है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा भोपाल, इंदौर समेत अन्य बड़े शहरों में उनका विभाग दिव्यांगों के लिए नेशनल स्पोटर्स सेन्टर भी स्थापित कर रहा है।
शुक्रवार को पत्रकारों से चर्चा में गेहलोत ने मानसिक आरोग्य केन्द्र को प्रदेश के लिए बड़ी उपलब्धि बताते हुए कहा कि चार सौ मरीजों की क्षमता वाले इस स्वास्थ्य केन्द्र को जल्द शुरू किया जाएगा। इसमें 231 कर्मचारी काम करेंगे।  उन्होंने बताया कि सरकार ने उनके मंत्रालय को कोलार और सीहोर रोड पर 25 एकड़ जमीन दिखाई है। जिसमें हमे सीहोर रोड की जमीन उपयुक्त लगी है। गेहलोत ने बताया कि खुद का भवन बनने तक इस केन्द्र को किराए के भवन में संचालित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में इंदौर, भोपाल, ग्वालियर और रीवा में दिव्यांगों के लिए स्पोटर्स सेन्टर जल्द खोले जाएंगे। इसमें ग्वालियर में जमीन मिल चुकी है। इंदौर में स्पोटर्स सेन्टर अगले महीने शुरू हो जाएगा।
एम्स जैसा नहीं होगा हाल
इस सवाल पर कि राष्टÑीय मानसिक स्वास्थ्य एवं पुनर्वास केन्द्र का हाल एम्स जैसा तो नहीं होगा, गेहलोत ने कहा कि एम्स एनडीए की सरकार में पूर्व पीएम अटल बिहारी बाजपेई ने शुरू किया था पर बाद में यूपीए की सरकार आने पर इसका काम पिछड़ गया, अब फिर इसके काम में तेजी आई है। उन्होंने कहा कि मानसिक स्वास्थ्य केन्द्र तय समय सीमा में शुरू होगा और इसके भवन का निर्माण भी तय लागत के भीतर ही किया जाएगा।

ajay dwivedi
the authorajay dwivedi