बापू के हत्यारे गोडसे की प्रतिमा स्थापना को लेकर बवाल

0
40

धरने पर बैठी कांग्रेस, हिंइदू महासभा पर मुकदमा दर्ज करने की मांग

rajesh dwivedi
सतना। मध्य प्रदेश में ग्वालियर के एक मंदिर में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की देवता के रूप में रखी गई मूर्ति के मामले में तूफान खड़ा होने के बाद राष्ट्रपिता के हत्यारे की प्रतिमा को लेकर सतना में भी राजनैतिक तूफान खड़ा हो गया है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की प्रतिमा की स्थापना को लेकर सतना की राजनीति में भी उफान आ गया है। कांग्रेसजन इस घिनौने कृत्य के विरोध में सड़क पर उतरकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। आज नाथूराम गोडसे की प्रतिमा पुष्करणी पार्क के पास स्थापित किये जाने के विरोध में कांग्रेसजनों ने पुष्करणी पार्क के पास धरना प्रदर्शन किया।

Bapu's assassin is responsible for establishing Godse's statueकांग्रेस प्रदेश सचिव रवीन्द्र सिंह सेठी, के.पी.एस. परिहार, डॉ. पी.डी. पटेल, गणेश त्रिवेदी, सुधीर सिंह तोमर, अलका रानी तोमर, महिला कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती उर्मिला त्रिपाठी, विजय रिझवानी, शिवकुमारी कुशवाहा, सविता अग्रवाल, के.के. कुशवाहा, साबिर खान, संतोष पाण्डेय, के.के. तिवारी सहित सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल रहे। धरना पर बैठे कांग्रेस जनों को स बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस सचिव रवीन्द्र सिंह सेठी ने भाजपा एवं उसके अनुसांगिक संगठनों पर राष्ट्रपिता के हत्यारे की महिमा मंडन करने तथा देश में नफरत और हिंसा के बीज बोने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस तरह की कुत्सित विचारधारा का मुंहतोड़ जवाब देगी। धरना प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं अन्य वरिष्ठ काग्रेसजनों ने सबोधित करते हुए कहा कि भाजपा तथा उससे जुड़े संगठन राष्ट्रपिता के अपमान की हरकतों से बाज आएं। अन्यथा कांग्रेस इस तरह के कृत्यों का शहर सहित समूचे जिले तथा प्रांतीय स्तर पर हर गली कूचे में डट कर विरोध करेगी। कांग्रेस के तीखे तेवर देख महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का महिमा मंडन करने वाले लोगों के दिल में दहशत पैदा हुई है। लेकिन चर्चा है कि इस षडयंत्र को आगे बढ़ाने योजनाबद्ध तरीके से काम किया जा रहा है।

महासभा के प्रदेश सचिव देवेन्द्र गिरतार
हिन्दू महासभा द्वारा हुतात्मा नाथूराम गोडसे प्रतिमा स्थापना हेतु भूमि पूजन होने से पहले ही राष्ट्रीय महासचिव देवेन्द्र पाण्डेय को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। इस कार्रवाई के विरोध में संगठन पदाधिकारियों ने आंदोलन का अल्टीमेटम दिया गया था जिसमें कहा है कि अगर 24 घंटे के भीतर देवेन्द्र पाण्डेय की रिहाई नहीं हुई तो महासभा आन्दोलन करेगी। इसके तत्काल पश्चात कार्यकर्ताओं की भीड़ पुष्करणी पार्क में एकत्रित होना शुरु हुई जिन्हें पुलिस ने उन्हें तत्काल हटाने के प्रयास शुरु किये।

लचर कानून व्यवस्था के खिलाफ कांग्रेस ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन
कांग्रेस जनों द्वारा आज शहर सहित पूरे जिले की लचर कानून व्यवस्था, किसानों की समस्या, महिला उत्पीडऩ आदि मुद्दों को लेकर कलेक्ट्रेट के समक्ष प्रदर्शन कर कलेक्टर को स बोधित ज्ञापन उनके प्रतिनिधि तहसीलदार बी.के. मिश्रा को सौंपा गया। ज्ञापन सौंपने वालों में कांग्रेस प्रदेश सचिव रवीन्द्र सिंह सेठी, महिला कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती उर्मिला त्रिपाठी, संतोष पाण्डेय, डॉ. पी.डी. पटेल, के.पी.एस. परिहार, साबिर खान, कांग्रेस प्रवक्ता के.के. कुशवाहा, अमित अवस्थी, सविता अग्रवाल, शिवकुमारी कुशवाहा, के.के. तिवारी आदि उपस्थित रहे। ज्ञापन सौंपते हुए कांग्रेस प्रदेश सचिव रवीन्द्र सिंह सेठी ने कहा कि सतना शहर सहित पूरे प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था पटरी से उतर चुकी है। सतना में रोजाना महिलाओं पर अपराध, लूट, चोरी, अपहरण, हत्याएं, हत्या का प्रयास एवं अन्य घटनाएं घट रही हैं। लेकिन पुलिस अपराधों पर अंकुश लगाने में नाकामयाब है। महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष उर्मिला त्रिपाठी ने पुलिस पर महिला अपराधों में ग भीरतापूर्वक कार्रवाई नहीं किये जाने का आरोप लगाते हुए कहा कि अपहरण बलात्कार एवं हत्या जैसे संगीन मामलों में भी पीडि़ताओं को जल्दी न्याय नहीं मिल पाता।