उज्जैन शहर में करीब 1.21 लाख परिसंपत्ति ,नल कनेक्शन मात्र 53 हजार

0
55

brijesh parmar
उज्जैन । उज्जैन शहर में लगभग 1,21,000/- परिसम्पत्तियों के विरूद्ध लगभग 53,000/- ही जल संयोजन है। यह जानकारी कलेक्टर को बैठक में दी गई तो वे हतप्रभ थे। इस पर उन्होंने अवैध जल कनेक्शनों पर चिंता जाहिर की तथा अवैध संयोजनों को वैध करने हेतु एक समय बद्ध कार्यवाही के निर्देश दिये।

bhavtarini logo_new copyशहर की अल्पवर्षा से उत्पन्न हुई जल संकट की स्थिति को देखते हुए प्रशासनिक बैठक बुधवार को गंभीर डेम पर कलेक्टर की अध्यक्षता में हुई। आयुक्त डाॅ. विजय कुमार जे, अपर आयुक्त श्री संजय मेहता एवं कार्यपालन यंत्री लो.स्वा.यां. विभाग उज्जैन श्री धर्मेन्द्र वर्मा एवं पीएचई के अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

कलेक्टर ने आयुक्त के साथ गंभीर डेम का निरीक्षण किया तथा उपलब्ध जल मात्रा का किस तरह से अत्याधिक उपयोग हो सके, इस पर चर्चा की गई। कलेक्टर ने सभी जलाशयों पर पेट्रोलिंग की व्यवस्था की जानकारी ली ओर लगातार 24 घंटे निगरानी हेतु पर्याप्त मोटर बोट एवं वाहन लगाकर दलों का गठन किया जावे तथा प्रशासन एवं पुलिस के सहयोग से पानी की चोरी को पूर्णतः रोका जावे इस हेतु निर्देश दिये। बैठक में चर्चा के दौरान जलप्रदाय पर होने वाले व्यय एवं जल प्रदाय से होने वाली वसुली पर भी चर्चा की गई। चर्चा में ज्ञात हुआ की कलेक्टर द्वारा कहा गया कि कार्यक्रम इस तरह से चलाया जावे कि आमजनों की समस्या का समाधान होवे तथा उन्हें किसी प्रकार की समस्या जल संयोजनो के नियमितिकरण में ना हो। प्रत्येक झोन में केम्प लगाकर जल संयोजनों का नियमितिकरण किया जावे।

यह निश्चित किया गया कि 15 सितम्बर से 15 अक्टुबर तक जल संयोजन का नियमितिकरण महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल से चर्चा कर दरों का निर्धारण कर किया जावे तथा निर्धारित समय सीमा तक जल संयोजनों का नियमितिकरण न होने की दशा में पेनल्टी सहित नियमितिकरण हो तथा अवैध संयोजन प्राप्त होने की दशा में संयोजन विच्छेदन एवं वैधानिक कार्यवाही की जावे।