मानव सेवा सबसे बड़ा पुण्य- यादवेंद्र सिंह

0
6

Tkg 3vishnu shrivastav

टीकमगढ़। यह कार्य बड़ा ही पुण्य का काम है क्योंकि मानव सेवा ही मनुष्य के लिए सबसे बड़ा धर्म है। आज कल ऐसा कोई भी खाद्य पदार्थ नही आ रहा है जिसमें मिलावट नही की जा रही हो। इस मिलावटी खाने से ही बड़ी-बड़ी बीमारियां जन्म ले रही हैं। पहले के समय में लोग बीमार बहुत ही कम होते थे क्योंकि उनको हमेशा ही शुद्ध एवं ताजा मिलता था। यह उद्गार पलाश होटल में चल रहे ह्दय रोग परमार्श शिविर के दौरान क्षेत्री विधायक यादवेंद्र ङ्क्षसह बुंलेला ने व्यक्त किए।
नगर के चकरा तिगैला स्थित पलाश होटल में ओम साईं नाथ टैक्नीकल इंस्टयूट एवं समाजसेवी संस्था वर्माताल के द्वारा एक ह्दय रोग परामर्श शिविर का आयोजन किया गया जो दो दिवसीय है। जिसका शुभारंभ बीते रोज निगम उपाध्यक्ष श्रीमति अनीता नायक ने देवी जी की चित्र पर तिलक लगाकर माल्यार्पण किया। इस शिविर में बंसत संकु ल, संटाणा नासिक महाराष्ट्र के एमडी एमआर एसएच की डिग्री लंदन से करकर आए डॉ. संजय व्ही पाटेल द्वारा जांच की जा रही है जिसका रजिस्टे्रशन शुक्ल 200 रूपए है। शिविर के दौरान 17 लोगों को परीक्षण रजिस्ट्रेशन किया गया। कार्यक्रम के आयोजक बंटी राजा, रामकुमार पाठक, विजय उपाध्याय, एकता शिक्षा समिति बम्हौरी बराना एवं परीमाणजन संस्थान ललितपुर रहे। इस दौरान न्यायाधीश पूरन सिंह, एके श्रीवास्तव, केके भट्ट, सूर्यप्रकाश मिश्रा, मिथलेश चतुर्वेदी, जगन्नाथ सिंह, दाखी प्रसाद दांगी टाले, नरेंद्र सिंह परमार, इंद्र विक्रम सिंह, अर्जुन ङ्क्षसंह सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY