भोपालमनोरंजन

आश्चर्य के साथ जादू का आनंद

जादूगर आनंद का मायालोक देखने उमड़ी भीड़

पिक्चर से निकली लड़कियां, दर्शक हुए हतप्रभ

 1 2 3भोपाल। मंच पर रखी बड़ी स्क्रीन पर चल रही पिक्चर में एक-दूसरे से बात कर रही युवतियां  रील से अचानक रियल लाइफ में आ गईं। यह देख दर्शक कुछ देर के लिए हतप्रभ रह गए। इस तरह के रोमांच भरे करतब देख कर पंडाल तालियों की गडग़ड़ाहट से गूंज उठा। मौका था शुक्रवार को सेंट्रल लाइब्रेरी में चल रहे जादूगर आनंद के मैजिक शो का। कभी लड़के को लड़की बना देना, तो कभी सर्प को लड़की और फिर लड़की को सर्प। कभी लड़की को हवा में उड़ा देना, तो कभी खुद जादूगर आनंद हवा में। इस तरह के अनेक हैरतंगेज कारनामे देखकर कर बड़ी संख्या में मौजूद दर्शक आश्चर्यचकित रह गए।
21 नवंबर से शुरू हुए इस मैजिक शो के प्रति लोगों में बढ़ते आकर्षण के बीच अन्य दिनों की तरह शुक्रवार को भी कई मजेदार और रोचक मैजिक दिखाए गए। खास बात यह भी रही कि दर्शक भी जादूगर आनंद द्वारा दिखाए जाने वाले करतबों में दिखाई पड़े। इनमें दर्शकों के बीच से मंच पर पहुंची 16 वर्षीय अनन्या के गले से तलवार का आर-पार होना और उसका हवा में तैरना अनन्या के साथ उसके परिजनों के लिए भी अचरज भरा था, जबकि एक अन्य खेल में सहभागी हुए रतन साहू से जादूगर ने खुद को लॉकप में बंद कराया और अचानक बाहर निकल कर एक युवक को कैद कर दिया। यह नजारा देख रतन खुद अचंभित हो गया। उसे समझ नहीं आया ये कैसे हो गया।

वाकई जादू होता है

मंच पर पहुंचकर करीब से मैजिक का अहसास करने वाले रतन कहते हैं कि मैं अभी तक यही सोचता था कि जादूगर हाथ की सफाई से यह सब करतब करते हैं, लेकिन आज जादूगर आनंद का मैजिक देख विश्वास हो गया कि यह हाथ की सफाई नहीं, बल्कि सच्चाई है। अचंभित रतन कहते हैं कि उन्होंने खुद जादूगर आनंद को 24 तालों में कैद किया था, लेकिन पता नहीं अचानक कैसे वह बाहर हो गए और कैद में दूसरा युवक बंद दिखा। यह चौंकाने वाला अनुभव था। इस मैजिक ने मेरा नजरिया ही बदल दिया।

दोनों में शो में उमड़ रही भीड़

21 नवंबर से शुरू हुए जादूगर आनंद के शो में रोजाना भीड़ बढ़ती ही जा रही है। यहां प्रतिदिन दो शो हो रहे हैं। इनमें पहला शो 3.30 से और दूसरा शो 6.30 से शुरू होता है, जबकि रविवार को इन शो से पहले 12.30 बजे एक अतिरिक्त शो रखा गया है।

मनोरंजन के साथ ज्ञान भी

एक माह से भी अधिक समय तक चलने वाले इस मैजिक शो में लोगों को जादूगर आनंद का मैजिक जहां मनोरंजन कर रहा है, वहीं बच्चों की जिज्ञासाओं का भी समाधान हो रहा है। शो के दौरान देश में व्याप्त कुरीतियां, भ्रष्टाचार, कालाधन और बेटियों के अधिकारों के प्रति जागरुक बनाने का प्रयास किया जा रहा है।
ajay dwivedi
the authorajay dwivedi